Home छात्रवृत्ति भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – संक्षिप्त में, आवेदन प्रक्रिया और पात्रता मानदंड
Scholarship for CA in India

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – संक्षिप्त में, आवेदन प्रक्रिया और पात्रता मानदंड

by Bhawana

Table of Contents

चार्टर्ड अकाउंटेंसी (सीए) सभी व्यवसाय का मूल प्रमाण है, चाहे वह बड़ा हो या छोटा व्यवसाय सभी को चार्टर्ड अकाउंटेंट की जरुरत होती है। चार्टर्ड अकाउंटेंट (सीए) के काम में ऑडिटिंग, टैक्सेशन, अकाउंटिंग और फाइनेंशियल प्लानिंग शामिल हैं। चार्टर्ड अकाउंटेंसी बहुत ही चुनौतीपूर्ण और ज़िम्मेदारी का काम होता है।

चार्टर्ड अकाउंटेंसी (सीए) करने के बाद कैरियर की संभावनाएं रोमांचक हैं। फाइनेंस, निवेश परामर्श और फंड प्रबंधन जैसे पुरस्कृत करियर का पहला कदम चार्टर्ड अकाउंटेंसी है।

चार्टर्ड अकाउंटेंसी कोर्स भारत के चार्टर्ड एकाउंटेंट्स संस्थान द्वारा संचालित किया जाता है, जिसका मुख्यालय नई दिल्ली में हैं, पांच क्षेत्रीय कार्यालय कलकत्ता, कानपुर, चेन्नई, मुंबई और नई दिल्ली में है और इन सभी क्षेत्रीय केंद्रों के अंतर्गत 81 शाखाएँ हैं।

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – चरण-दर-चरण विवरण

सीए बनने की योग्यता पिछले कुछ वर्षों में बदली गई है। प्रारंभ में, भारत में स्टूडेंट्स केवल ग्रेजुएशन के बाद ही सीए बनने के बारे में सोच सकते थे और उन्हें पांच साल के लेखकीय प्रशिक्षण आर्टिकलशिप ट्रेनिंग प्रोग्राम से गुजरना पड़ता था। 1991-92 में, आईसीएआई ने CA प्रोग्राम के फाउंडेशन कोर्स के लिए ऐसे स्टूडेंट्स को भी अनुमति दी, जो 12वीं पूरी कर चुके थे। अक्टूबर 2001 में, आईसीएआई ने फाउंडेशन और इंटरमीडिएट परीक्षाओं के बदले पीई-1 और पीई-2 परीक्षा लेनी शुरू की। हालाँकि, 2006 में, आईसीएआई ने इस प्रणाली में फिर से बदलाव किया और सीपीटी, आईपीसीसी और एफसी परीक्षा को लॉन्च किया।

पाठ्यक्रम ही चार्टर्ड अकाउंटेंसी की अनूठी विशेषता है, जो थ्योरेटिकल इनफार्मेशन के साथ प्रैक्टिकल ट्रेनिंग देता है। एक स्टूडेंट को शुरुआत से ही दोनों तरह के कोर्स प्रशिक्षण से गुजरना परता है। यह संतुलन ही स्टूडेंट को आगे बढ़ने में मदद करता है।Scholarship Registration, Get Scholarship Update

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – परीक्षा विवरण

अब बात करते है सबसे नए पैटर्न की जिसमे निम्नलिखित परीक्षा शामिल है।

  1. सीपीटी
  2. आईपीसीसी
  3. एफसी

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – कॉमन प्रोफिसिएंसी टेस्ट (सीपीटी)

सीपीटी सबसे प्रथम पड़ाव है जिसमे विद्यार्थी को चार विषयों की एक एंट्री लेवल टेस्ट से गुजरना पड़ता है, इसमें अकाउंटिंग, मर्केंटाइल लॉज, जनरल इकोनॉमिक्स और क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड शामिल हैं।

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – इंटीग्रेटेड प्रोफेशनल कम्पेटेन्स कोर्स (आईपीसीसी)

यह सीए पाठ्यक्रम का ऐसा चरण है, जिसमें स्टूडेंट को एकाउंटेंसी के केवल मुख्य और संबद्ध विषयों का वर्किंग नॉलेज मिलता है। पूरे आईपीसीसी के विषयों को दो समूहों में बांटा गया है, जिसे इच्छुक विद्यार्थी अध्ययन करता है और परीक्षा में बैठता है। आईपीसीसी कोर्स को विद्यार्थी के अंतिम चरण के वित्तीय रिपोर्टिंग के मजबूत नींव बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। स्टूडेंट अपने बिज़नेस कम्युनिकेशन, बिज़नेस स्ट्रैटेजी,टैक्स, इनफार्मेशन टेक्नॉलजी और ऑडिट जैसे ज्ञान को आईपीसीसी के जरिये अपडेट करते हैं।

यह भी जरूर पढ़ें: भारत में एमबीए के लिए छात्रवृत्ति – यहाँ पूरी सूची दी गई है

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – सीए फाइनल

सीए फाइनल फाइनेंसियल रिपोर्टिंग, स्ट्रैटेजिक फाइनेंसियल मैनेजमेंट, एडवांस्ड मैनेजमेंट एकाउंटिंग, एडवांस्ड ऑडिटिंग, प्रोफेशनल एथिक्स जैसे उन्नत ज्ञान शामिल है। इसके अलावा, ई-गवर्नेंस, कॉर्पोरेट और संबद्ध कानून, इंटरनेशनल टैक्सेशन और वैट के सिद्धांत विषय की महत्वपूर्ण जानकारी मिलती हैं। इसमें दो ग्रुप शामिल है।

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – सीए फाइनल ग्रुप 1

पेपर 1: फाइनेंसियल रिपोर्टिंग (100 अंक)

पेपर 2: स्ट्रैटेजिक फाइनेंसियल मैनेजमेंट (100 अंक)

पेपर 3: एडवांस्ड ऑडिटिंग और प्रोफेशनल एथिक्स (100 अंक)

पेपर 4: कॉर्पोरेट लॉ और अन्य इकनॉमिक लॉ (100 अंक)

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – सीए फाइनल ग्रुप 2

पेपर 5: स्ट्रैटेजिक कॉस्ट मैनेजमेंट और परफॉरमेंस इवैल्यूएशन (100 अंक)

पेपर 6: इलेक्टिव पेपर (100 अंक)

सीए क्लियर करने के लिए एक विद्यार्थी को प्रत्येक पेपर में कम से कम 40 प्रतिशत अंक और कुल 50 प्रतिशत अंक प्राप्त करना होगा। CA फाइनल परीक्षा को सफलतापूर्वक पूरा करने के बाद, कोई भी ICAI में नामांकन कर सकता है और “चार्टर्ड अकाउंटेंट” के रूप में नामित हो सकता है।

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – आर्टिकलशिप

आईपीसीसी के ग्रुप 1 पास करने के बाद के विद्यार्थी को एक अनुभवी सीए के साथ तीन साल के लिए आर्टिकलशिप करना होगा। इसमें कुछ नियम भी लागू होते हैं – जैसे 16 साल या अधिक अनुभव वाले सीए 8 आर्टिकल ले सकते हैं/प्रशिक्षित कर सकते हैं), वहीं 16 साल से कम अनुभव वाले सीए कम आर्टिकल/को प्रशिक्षित कर सकते हैं। आर्टिकलशिप के समय के दौरान, विद्यार्थी तकनीकी विवरण सीखते हैं और समय के साथ विद्यार्थी को बड़े असाइनमेंट दिए जाते हैं। आर्टिकलशिप के दौरान विद्यार्थियों के शहर की आबादी के आधार पर वजीफा मिलता है।

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – तैयारी की शुरूआत कब से करें?

अगर आप सीए बनना चाहते है तो आज की सख़्त कम्पटीशन में, आपको यह सलाह दी जाती है कि आप कक्षा 10 पूरी करने के बाद ही योजना बनाना शुरू कर दे। चार्टर्ड अकाउंटेंसी के लिए, 12वीं में पढ़ने के साथ ही बोर्ड ऑफ स्टडीज में पंजीकरण कर सकते है, वहीं 12वीं में गणित लेना बेहतर विकल्प है। परन्तु इस करियर में कॉमर्स स्ट्रीम के विद्यार्थियों को निश्चित रूप से फायदा है। सीए की नवीनतम कोर्स युवा प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को इस प्रोफेशन में प्रारंभिक प्रवेश के लिए डिज़ाइन की गई है।

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – क्या यह मेरे लिए सही करियर है?

आमतौर पर यह माना जाता है कि केवल कॉमर्स के विद्यार्थी को सीए कोर्स करना चाहिए। हालांकि, सीए एक बहुत ही व्यावहारिक पाठ्यक्रम है, विज्ञान और कला विधा के विद्यार्थी भी समान रूप से लाभ प्राप्त कर सकते हैं और एक सफल करियर बना सकते हैं। विज्ञान और कला स्ट्रीम के विद्यार्थी को कुछ जटिल लेखांकन बारीकियों को समझने के लिए अतिरिक्त प्रयास करना पड़ता है और विभिन्न प्रबंधन विषयों का बुनियादी ज्ञान प्राप्त करना होता है। लेकिन आसानी से यह निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि विज्ञान और कला धाराओं के विद्यार्थी भी सफल सीए हो सकते हैं, अगर वे कठिन परिश्रम को तैयार हैं।

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – यह पढ़ाई कितनी महंगी है?

अन्य पेशेवर पाठ्यक्रमों के विपरीत, सीए बनने के लिए शुल्क बहुत कम है, जिसमे अध्ययन सामग्री शुल्क भी शामिल है। आईपीपीसी में पंजीकरण के लिए आपको 9000 रुपये का भुगतान करना होगा जबकि सीपीटी के लिए शुल्क 6700 रुपये लगेंगे।

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – रोजगार की संभावनाएं/वेतन

प्रशिक्षण पूरा होने पर, उम्मीदवार सीए के रूप में अभ्यास शुरू कर सकते है उससे पहले उन्हें आईसीएआई से सदस्यता प्राप्त करने की आवश्यकता होती है। भारत या विदेश में अभ्यास करने के इच्छुक सदस्य को आईसीएआई से अभ्यास प्रमाण पत्र प्राप्त करने की आवश्यकता होती है, जिसका वार्षिक शुल्क 400 रुपये है। नामांकन या परीक्षाओं के बारे में अधिक जानकारी संस्थान के कार्यालयों या इंद्रप्रस्थ, नई दिल्ली के मुख्यालय या बोर्ड ऑफ स्टडीज, सी1 – सेक्टर 1, नोएडा – 201301 से ली जा सकती है।

सीए इंटर के लिए: आमतौर पर सीए इंटर-योग्यता वाले उम्मीदवारों को 7,500 से 15,000 रुपये के बीच वेतन मिलता है। एमकॉम या एमबीए जैसी अन्य योग्यता वाले उम्मीदवारों को अधिक वेतन मिल सकता है। दूसरी ओर देश के कुछ छोटे शहरों में वेतन की दर 4,500 से 5,000 रुपये तक हो सकती है।

सीए फाइनल (एफसीए) के लिए: शुरुआती वेतन 12,000 से 30,000 रुपये के बीच होता है। वहीं 5 साल से अधिक वर्क एक्सपीरियंस के बाद 30,000 से 75,000 रुपये के बीच वेतन की उम्मीद की जा सकती है।

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – भारत में सीए की आवश्यकता

पिछले 5 वर्षों में भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि को देखते हुए यह आसानी से निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि हर साल देश को लगभग 7,500 से 10,000 नए सीए की आवश्यकता होती है।

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – सकारात्मक / नकारात्मक

दुनिया में हर चीज का अपना महत्त्व है और सभी चीजों में सकारात्मक / नकारात्मक महत्त्व भी है। 

सकारात्मक 

  • नौकरी में अत्यधिक वेतन है।
  • सीए को कंपनी और समाज में जबरदस्त सम्मान मिलता है।
  • एक चार्टर्ड एकाउंटेंट का कार्य क्षेत्र इतना विस्तृत हो गया है और इसमें कई गतिविधियाँ शामिल हैं जो कभी-कभी एक सीए को लगभग एक पहेली के रूप में माना जाता है। एक सीए ऑडिटिंग गतिविधियों के साथ करियर शुरू कर सकता है। यहाँ से वित्त, निवेश सलाहकार के रूप में या एक फंड मैनेजर के रूप में एक सीए काम कर सकतें हैं। सीए परियोजना प्रबंधन और परामर्श सेवाओं में भी काम करते हैं।

नकारात्मक

  • यह तनावपूर्ण काम है क्योंकि जिम्मेदारियां बहुत बड़ी हैं और किसी भी त्रुटि की कोई गुंजाइश नहीं है।
  • खुद को नियमित रूप से अपडेट करना जरूरी है अन्यथा करियर में ठहराव आ सकता है।

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – शीर्ष कंपनियां/कार्यक्षेत्र जहाँ काम कर सकतें है।

निम्नलिखित क्षेत्र में सीए को अवसर मिलता है:

  • बैंक (निजी और सार्वजनिक दोनों)
  • पब्लिक लिमिटेड कंपनियां (कानून के उद्देश्य के लिए अनिवार्य)
  • ऑडिटिंग फर्म (जैसे केपीएमजी, मूल्य वॉटरहाउस, आदि)
  • फाइनेंस कंपनियां, म्यूचुअल फंड, पोर्टफोलियो मैनेजमेंट कंपनी, इन्वेस्टमेंट हाउसेस, स्टॉक ब्रोकिंग फर्म
  • कानूनी फर्म, पेटेंट फर्म, वकील, ट्रेड मार्क और कॉपीराइट रजिस्टर

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – पात्रता मानदंड और छात्रवृत्ति की श्रेणियां

इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) ने इस साल चार्टर्ड अकाउंटेंसी (सीए), आईपीसीसी, सीए फाइनल कोर्स में रजिस्ट्रेशन करने वाले विद्यार्थियों को वित्तीय सहायता या छात्रवृत्ति देने का निर्णय लिया है। सीए इंटरमीडिएट/आईपीसीसी कोर्स में रजिस्ट्रेशन करने वाले को और सीए फाइनल कोर्स के विद्यार्थियों के लिए 2,000 रुपये प्रति माह की राशि मिलेगी। छात्रवृत्ति का समय सीमा एक साल (1 अप्रैल 2019 से 31 मार्च 2020) है व इसी समय के दौरान प्रति माह स्कॉलरशिप की राशि वितरित की जाएगी।

क्रमांक छात्रवृत्ति नाम छात्रवृत्ति राशि आवेदन करने का समय
1 श्री धनराज कन्हैयालाल दुधेरिया स्कॉलरशिप्स 250 रुपये इस वर्ष के आवेदन अभी खुले नहीं हैं
2 आर.के. खन्ना मेमोरियल स्कॉलरशिप 1250 रुपये इस वर्ष के आवेदन अभी खुले नहीं हैं
3 जे.एस. लोढ़ा मेमोरियल स्कॉलरशिप 1250 रुपये इस वर्ष के आवेदन अभी खुले नहीं हैं
4 जे.एम. सेठिया चैरिटेबल ट्रस्ट स्कॉलरशिप 700 रुपये इस वर्ष के आवेदन अभी खुले नहीं हैं
5 बीसीसीओ फाउंडेशन स्कॉलरशिप 1250 रुपये इस वर्ष के आवेदन अभी खुले नहीं हैं
6 आर. पी. दलाल मेमोरियल स्कॉलरशिप 1250 रुपये इस वर्ष के आवेदन अभी खुले नहीं हैं
7 फेयर एंड लवली कैरियर फाउंडेशन स्कॉलरशिप 25,000 से 50,000 रुपये (निश्चित, एकमुश्त पुरस्कार) इस वर्ष के आवेदन अभी खुले नहीं हैं
8 पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड प्रोत्साहन स्कॉलरशिप 30,000 रुपये (ग्रुप 1 के लिए) और 50,000 रुपये (ग्रुप 2 के लिए) इस वर्ष के आवेदन बंद हो चुके हैं

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – आवेदन प्रक्रिया

स्कॉलरशिप में आवेदन करने के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन करें

चरण 1: आईसीएआई की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
चरण 2:स्कीम ऑफ़ फाइनेंसियल असिस्टेंस/स्कॉलरशिप टू स्टूडेंट्स ऑफ़ सीए कोर्स द ईयर 2019-20′ लिंक पर क्लिक करें।
चरण 3: एप्लीकेशन फॉर्म पर क्लिक करें।
चरण 4: सभी आवश्यक विवरण भरें और किसी भी केंद्रीय परिषद सदस्य से रिकमेंड करायें।
चरण 5: भरे हुए आवेदन पत्र को उल्लेखित पते पर भेजें।

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – आईसीएआई परीक्षा तिथियां 

मई 2020 के सीए परीक्षाओं के लिए कैलेंडर की सूची नीचे दी गयी है: 

क्रमांक इवेंट तिथि
1 आईसीएआई परीक्षा आवेदन की शुरूआत 5 फरवरी
2 आवेदन की अंतिम तिथि (विलंब शुल्क बिना)  26 फरवरी
3 आवेदन की अंतिम तिथि (विलंब शुल्क 600 रुपये के साथ) 4 मार्च
4 आवेदन सुधार अभी घोषणा नहीं की गयी है

भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति अक्सर पूछे जाने वाले संबंधित प्रश्न (एफएक्यू)

प्रश्न: भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति में कब आवेदन कर सकते हैं?

उत्तर: आप बडी4स्टडी के माध्यम से अप्लाई कर सकते हैं।

प्रश्न: भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति में कौन आवेदन कर सकते हैं?

उत्तर: सीए के इच्छुक विद्यार्थी या सीए कर रहे विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं।

प्रश्न: भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति में कैसे आवेदन कर सकते हैं?

उत्तर: इच्छुक विद्यार्थी ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

प्रश्न: भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति में कितनी मासिक राशि मिलेगी?

उत्तर: चयनित उम्मीदवारों को अधिकतम 50,000 रुपये तक की राशि प्राप्त होगी।

प्रश्न: भारत में सीए के लिए छात्रवृत्ति – आईसीएआई परीक्षा में कब तक आवेदन कर सकते हैं?

उत्तर: इच्छुक उम्मीदवार 4 मार्च तक 600 रुपये के विलंब शुल्क के साथ आवेदन कर सकते हैं

(Visited 2,867 times, 1 visits today)

You may also like

Leave a Comment