Home छात्रवृत्ति यूजीसी स्कॉलरशिप  – यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी)
UGC Scholarship

यूजीसी स्कॉलरशिप  – यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी)

by Shruti Pandey

यूजीसी स्कॉलरशिप  – यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी), भारत सरकार द्वारा मानव संसाधन विकास मंत्रालय के तहत स्थापित एक प्रसिद्ध वैधानिक निकाय है  जो पुरे देश के छात्रों को उनकी शिक्षा को ऊँचे स्तर पर आगे बढ़ाने में मदद करने के लिए कई स्कॉलरशिप देता है। यूजीसी स्कॉलरशिप मुख्य रूप से कॉलेज और विश्वविद्यालय स्तर की पढाई करने के लिए आर्थिक मदद प्रदान करने पर केंद्रित है। मेधावी और वंचित दोनों छात्र इन स्कॉलरशिप का लाभ उठा सकते हैं।

कौन कौन सी यूजीसी स्कॉलरशिप हैं जिसे आपको जरूर जानना चाहिए? इसके लिए अप्लाई करने का सही समय कब है? आप इन स्कॉलरशिप के लिए कैसे और कहां अप्लाई कर सकते हैं? इन स्कॉलरशिप के माध्यम से आपको किस प्रकार की आर्थिक मदद मिलेगी? यूजीसी स्कॉलरशिप से संबंधित आपके सभी प्रश्नों को इस लेख में शामिल किया गया है। आपको प्रमुख यूजीसी स्कॉलरशिप में, उनके एप्लीकेशन टाइम लाइन, योग्यता मानदंड, एप्लीकेशन प्रक्रिया, पुरस्कार और भी बहुत कुछ जानने को मिलेगा।

Scholarship Registration, Find New Scholarship

यूजीसी स्कॉलरशिपसंपूर्ण सूची

यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन प्रत्येक वर्ष 20,000 से अधिक छात्रों की जरूरतों को पूरा करने के लिए यूजीसी स्कॉलरशिप और फेलोशिप दोनों देता है। भले ही आप स्नातक स्तर, स्नातकोत्तर स्तर, डॉक्टरेट स्तर या पोस्ट-डॉक्टरेट स्तर पर अपनी पढ़ाई कर रहे हों  आप अपनी पढ़ाई के लिए यूजीसी स्कॉलरशिप प्राप्त कर सकते हैं। ये स्कॉलरशिप कौन सी हैं ? इन स्कॉलरशिप के द्वारा कितने छात्रों को लाभ प्राप्त होता है? आप नीचे दी गई तालिका में इनके बारे में सभी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इसमें सभी यूजीसी स्कॉलरशिप और फेलोशिप की एक व्यापक सूची दी गयी है।

यूजीसी  स्कॉलरशिप की विस्तृत सूची

क्र.सं. स्कॉलरशिप का नाम आवेदन की अवधि * स्कॉलरशिप की संख्या
1 सिंगल गर्ल चाइल्ड के लिए पोस्ट ग्रेजुएट इंदिरा गांधी स्कॉलरशिप योजना जुलाई से अक्टूबर के बीच 3,000
2 यूनिवर्सिटी रैंक होल्डर के लिए पोस्ट ग्रेजुएट मेरिट स्कॉलरशिप जुलाई से अक्टूबर के बीच 3,000
3 व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के लिए अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के लिए स्नातकोत्तर स्कॉलरशिप जुलाई से अक्टूबर के बीच 1,000
4 एनईआर के लिए विशेष स्कॉलरशिप योजना ईशान उदय जुलाई से अक्टूबर के बीच 10,000
5 सामाजिक विज्ञान में रिसर्च के लिए स्वामी विवेकानंद सिंगल गर्ल चाइल्ड स्कॉलरशिप NA NA
6 एमेरिटस फेलोशिप NA 200
7 मानविकी और सामजिक विज्ञान में डॉ. एस. राधाकृष्णन पोस्ट-डॉक्टोरल फेलोशिप NA 200
8 डॉ. डी.एस. कोठारी पोस्ट-डॉक्टोरल फेलोशिप योजना साल भर चलता है NA
9 महिला उम्मीदवारों के लिए पोस्ट-डॉक्टोरल फेलोशिप NA 100
10 एससी / एसटी उम्मीदवारों के लिए पोस्ट-डॉक्टोरल फेलोशिप NA 100
11 अनुसूचित जाति के छात्रों के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप NA 2,000
12 एसटी छात्रों की उच्च शिक्षा के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप NA 750
13 विकलांग व्यक्तियों के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप अक्टूबर से नवंबर के बीच 200
14 अल्पसंख्यक छात्रों के लिए मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय फेलोशिप NA 1,000
15 ओबीसी उम्मीदवार के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप NA 300

* ऊपर दी गयी एप्लीकेशन की अवधि अस्थायी है जो स्कॉलरशिप प्रदाता के निर्णय के अनुसार बदल सकती है।

Scholarship Registration, Get Scholarship Update

यूजीसी स्कॉलरशिपयोग्यता

प्रत्येक यूजीसी स्कॉलरशिप में छात्रों द्वारा पूरी की जाने वाली योग्यता मानदंड की अपनी निर्धारित सीमा होती है, जिसका प्रमुख केंद्र छात्रों की आयु, शैक्षिक योग्यता और परिवार की वार्षिक आय के आसपास होता है। इसके अलावां कुछ केटेगरी-स्पेसिफिक स्कॉलरशिप भी हैं जो यूजीसी द्वारा एससी, एसटी या ओबीसी केटेगरी  के छात्रों को दी जाती हैं। प्रत्येक स्कॉलरशिप के लिए योग्यता की शर्तें क्या हैं जिन्हें आपको पूरा करने की जरुरत है? उनके बारे में नीचे दी गई तालिका में विस्तार से जान सकते हैं। वर्तमान क्लास के पढाई के आधार पर आप इनमें से किसी एक स्कॉलरशिप का चयन कर सकते हैं और उसका लाभ उठाने के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

यूजीसी स्कॉलरशिप की विस्तृत योग्यता शर्तें

क्र.सं. स्कॉलरशिप का नाम केटेगरी योग्यता
1 सिंगल गर्ल चाइल्ड के लिए पोस्ट ग्रेजुएट इंदिरा गांधी स्कॉलरशिप योजना सभी के लिए स्कॉलरशिप 30 वर्ष की अधिकतम आयु सीमा के साथ सिर्फ छात्राओं को दी जाती है।

आवेदक परिवार की सिंगल गर्ल चाइल्ड होनी चाहिए।

आवेदक को किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या कॉलेज में रेगुलर, फुल-टाइम पीजी कोर्स के पहले वर्ष में प्रवेश लेना चाहिए।
2 यूनिवर्सिटी रैंक होल्डर के लिए पोस्ट ग्रेजुएट मेरिट स्कॉलरशिप सभी के लिए जो छात्र निम्नलिखित स्ट्रीम्स में स्नातक पूरा कर चुके हैं वे अप्लाई कर सकते हैं –

जीवन विज्ञान

रासायनिक विज्ञान

भौतिक विज्ञान

गणितीय विज्ञान

पृथ्वी विज्ञान

सामाजिक विज्ञान

लैंग्वेज

कॉमर्स

छात्रों को स्नातक स्तर पर पहली या दूसरी रैंक धारक होना चाहिए और किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय / कॉलेज में फुल-टाइम, रेगुलर मास्टर डिग्री कार्यक्रम में नामांकित होना चाहिए।

पीजी कोर्स में प्रवेश के समय आवेदक की आयु 30 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।

स्नातक में छात्र द्वारा प्राप्त किए जाने वाले अंकों का न्यूनतम प्रतिशत 60% होनी चाहिए

3 व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के लिए अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के लिए स्नातकोत्तर स्कॉलरशिप अनुसूचित जाति / जनजाति स्कॉलरशिप  उन छात्रों को दी जाती है जो किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय / संस्थान / कॉलेज से वर्तमान वर्ष के दौरान स्नातकोत्तर स्तर पर पहले वर्ष के व्यावसायिक पाठ्यक्रम को कर रहे हैं।
एमसीआई, एनसीटीई, बार काउंसिल ऑफ इंडिया, एनसीटीआईएस, आरसीआई, डीसीआई, पीसीआई, एआईसीटीई, डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया, फॉरेंसिक रेगुलेटरी, आईएनसी और आईसीएआर जैसे प्रमुख नियामक निकायों से मान्यता प्राप्त पाठ्यक्रम को उन व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के लिए माना जाता है जिनके लिए स्कॉलरशिप दी जा रही है।
4 एनईआर के लिए विशेष स्कॉलरशिप योजना ईशान उदय सभी के लिए उत्तर पूर्वी क्षेत्र (एनईआर) राज्य के अधिवास वाले छात्रों को  स्कॉलरशिप दी जाती है जिन्होंने अपनी कक्षा 12 वीं या समकक्ष पूरी कर ली है।

छात्र को किसी मान्यता प्राप्त संस्थान / कॉलेज / विश्वविद्यालय में तकनीकी, व्यावसायिक या सामान्य डिग्री पाठ्यक्रम में प्रवेश लेना चाहिए।

परिवार की वार्षिक आय 4.5 लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।

5 सामाजिक विज्ञान में रिसर्च के लिए स्वामी विवेकानंद सिंगल गर्ल चाइल्ड स्कॉलरशिप सभी के लिए स्कॉलरशिप केवल सिंगल गर्ल चाइल्ड के लिए दी जाती है।
आवेदक को किसी मान्यता प्राप्त भारतीय विश्वविद्यालय / संस्थान / कॉलेज में सामाजिक विज्ञान में रेगुलर, फुल-टाइम पीएचडी कार्यक्रम करना चाहिए।

सामान्य श्रेणी के आवेदकों के लिए अधिकतम आयु सीमा 40 वर्ष और एससी / एसटी / ओबीसी और पीडब्ल्यूडी के लिए 45 वर्ष है।

दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से पीएचडी करने वाले छात्र इस स्कॉलरशिप के लिए अप्लाई नहीं कर सकते।

ट्रांसजेंडर उम्मीदवारों को भी स्कॉलरशिप दी जाती है।

6 एमेरिटस फेलोशिप सभी के लिए फेलोशिप मान्यता प्राप्त संस्थानों / कॉलेजों / विश्वविद्यालयों के  बहुत ज्यादा योग्य, बहुत ज्यादा अनुभवी और अनुभवी शिक्षकों के लिए खुली है।

आवेदक को गुणवत्ता रिसर्च और प्रकाशित काम के साथ अपने सेवा करियर में योगदान देना चाहिए।

फेलोशिप पुरस्कार विजेता को 70 वर्ष की आयु तक अच्छी तरह से परिभाषित समयबद्ध कार्य योजना के साथ काम करने की अनुमति देता है।

7 मानविकी और समाज विज्ञान में डॉ. एस. राधाकृष्णन पोस्ट-डॉक्टोरल फेलोशिप सभी के लिए फेलोशिप बेरोजगार युवा शोधकर्ताओं के लिए खुली है, जो ऑनलाइन एप्लीकेशन जमा करने की अंतिम तिथि से पहले 35 वर्ष से कम उम्र के हैं। (नोट: एससी, एसटी, ओबीसी, पीडब्ल्यूडी और महिला उम्मीदवारों के लिए 5 वर्ष की छूट उपलब्ध है)।

यूजी स्तर पर सामान्य श्रेणी के छात्रों द्वारा प्राप्त किए जाने वाले अंकों का न्यूनतम प्रतिशत 55% और पीजी स्तर पर 60% अंक है। (नोट: एससी, एसटी, ओबीसी और पीडब्ल्यूडी सहित आरक्षित श्रेणियों के लिए 5% की छूट दी गई है)।

फेलोशिप ट्रांसजेंडर उम्मीदवारों को भी दी जाती है।

8 डॉ. डी.एस. कोठारी पोस्ट-डॉक्टोरल फेलोशिप योजना सभी के लिए फेलोशिप 35 वर्ष से कम उम्र के उम्मीदवारों को भी दी जाती है, जो विज्ञान संकाय के अंतर्गत पीएचडी की डिग्री पाते हैं। (नोट: एससी, एसटी, ओबीसी, महिला और पीडब्ल्यूडी उम्मीदवारों को 3, 5 और 10 साल तक की छूट दी जाएगी)।

शिक्षक, जो कन्फर्म पद पर कार्यरत हैं और 35 वर्ष से कम आयु के हैं, वे भी अप्लाई कर सकते हैं।

फेलोशिप के पिछले आवेदक जिन्हे असफल घोषित किया गया था वे भी अप्लाई कर सकते हैं।

9 महिला उम्मीदवारों के लिए पोस्ट-डॉक्टोरल  फेलोशिप सभी के लिए फेलोशिप केवल उन महिला उम्मीदवारों को दी जाती है जो बेरोजगार हैं और पीएचडी की डिग्री प्राप्त की हैं।

आवेदक की आयु 55 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए (नोट: एससी, एसटी, ओबीसी, पीडब्ल्यूडी उम्मीदवारों को आयु में 5 वर्ष की छूट दी गई है)।

यूजी स्तर पर सामान्य श्रेणी के उम्मीदवारों द्वारा पाए गए अंकों का न्यूनतम प्रतिशत 55% है और पीजी स्तर पर 60% है (नोट: न्यूनतम प्रतिशत अंकों में 5% की छूट एससी, एसटी, ओबीसी, पीडब्ल्यूडी उम्मीदवारों को दी गई है) ।

ट्रांसजेंडर उम्मीदवार भी इस योजना के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

10 एससी / एसटी उम्मीदवारों के लिए पोस्ट-डॉक्टोरल फेलोशिप एससी / एसटी फेलोशिप उन बेरोजगार उम्मीदवारों को दिया जाता है जिनके पास संबंधित विषय में पीएचडी की डिग्री है।

पुरुष आवेदकों के लिए अधिकतम आयु सीमा 50 वर्ष है जबकि महिला आवेदकों के लिए 55 वर्ष है।

आवेदकों को यूजी स्तर पर 50% अंक और पीजी स्तर पर 55% अंक होना चाहिए।

ट्रांसजेंडर उम्मीदवार भी अप्लाई कर सकते हैं।

11 अनुसूचित जाति के छात्रों के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप एससी वे छात्र जिन्होंने अपनी स्नातकोत्तर परीक्षा उत्तीर्ण की है और एम.फिल / पीएचडी पाठ्यक्रम के लिए रजिस्टर किया है। इस फेलोशिप के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

फेलोशिप ट्रांसजेंडर उम्मीदवारों के लिए खुली है।

12 एसटी छात्रों की उच्च शिक्षा के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप एसटी स्नातकोत्तर उपाधि रखने वाले छात्र फेलोशिप के लिए पात्र हैं।

आवेदक को यूजीसी द्वारा मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय / कॉलेज / संस्थान में  रेगुलर एम.फिल / पीएचडी पाठ्यक्रम में रजिस्टर होना चाहिए।

13 विकलांग व्यक्तियों के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप सभी के लिए फेलोशिप उन विकलांग छात्रों को दी जाती है, जिन्हें किसी विश्वविद्यालय या शैक्षणिक संस्थान में पीएचडी / एमफिल कार्यक्रम में दाखिला मिला है।
14 अल्पसंख्यक छात्रों के लिए मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय फेलोशिप अल्पसंख्यक फेलोशिप अल्पसंख्यक समुदायों जैसे मुस्लिम, ईसाई, सिख, बौद्ध, पारसी और जैन से संबंधित छात्रों को दी जाती है।

छात्र को फुल-टाइम और रेगुलर  एम.फिल / पीएचडी  कार्यक्रम में नामांकित होना चाहिए।

परिवार की वार्षिक आय सभी स्रोतों से 2.5 लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।

उम्मीदवारों द्वारा पोस्टग्रेजुएशन में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक प्राप्त करने चाहिए।

ट्रांसजेंडर आवेदक भी फेलोशिप के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

15 ओबीसी उम्मीदवार के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप ओबीसी जिन छात्रों ने स्नातकोत्तर उत्तीर्ण किया है और एम.फिल / पीएचडी  पाठ्यक्रमों के लिए रजिस्टर किया है, वे फेलोशिप के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

परिवार की वार्षिक आय सभी स्रोतों से 6 लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।

ट्रांसजेंडर उम्मीदवार भी फेलोशिप के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

यूजीसी स्कॉलरशिपएप्लीकेशन प्रक्रिया

यूजीसी स्कॉलरशिप के लिए आप कैसे और कहां अप्लाई कर सकते हैं? क्या एप्लीकेशन प्रक्रिया ऑनलाइन या ऑफलाइन है? क्या यूजीसी स्कॉलरशिप एप्लीकेशन के लिए एक अलग पोर्टल संचालित करता है? इन सभी सवालों के जवाब इस खंड में दिए गए हैं। चूंकि यह एक टेक्नोलॉजी से चलने वाली दुनिया है, इसलिए स्कॉलरशिप एप्लीकेशन केवल ऑनलाइन आमंत्रित किए जाते हैं। जबकि अधिकांश स्कॉलरशिप के लिए एप्लीकेशन नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल के माध्यम से आमंत्रित किया जाता है, आप बाकी स्कॉलरशिप के लिए यूजीसी की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से अप्लाई कर सकते हैं। यूजीसी स्कॉलरशिप के लिए आप कैसे और कहां अप्लाई कर सकते हैं, इसके बारे में विस्तृत जानकारी नीचे की तालिका में दी गयी है।

यूजीसी स्कॉलरशिप की विस्तृत एप्लीकेशन प्रक्रिया

क्र.सं. स्कॉलरशिप का नाम अप्लाई  कैसे करें?
1 सिंगल गर्ल चाइल्ड के लिए पोस्ट ग्रेजुएट इंदिरा गांधी स्कॉलरशिप योजना नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल (एनएसपी) के माध्यम से ऑनलाइन अप्लाई करें।
2 यूनिवर्सिटी रैंक होल्डर के लिए पोस्ट ग्रेजुएट मेरिट स्कॉलरशिप नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन  अप्लाई करें।
3 व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के लिए अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के लिए स्नातकोत्तर स्कॉलरशिप नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन  अप्लाई करें।
4 एनईआर के लिए विशेष स्कॉलरशिप योजना ईशान उदय नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन  अप्लाई करें।
5 सामाजिक विज्ञान में रिसर्च के लिए स्वामी विवेकानंद सिंगल गर्ल चाइल्ड स्कॉलरशिप यूजीसी की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन  अप्लाई करें।
6 एमेरिटस फेलोशिप यूजीसी की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन  अप्लाई करें।
7 मानविकी और समाज विज्ञान में डॉ एस राधाकृष्णन पोस्ट-डॉक्टोरल फेलोशिप यूजीसी की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन  अप्लाई करें।
8 डॉ. डी.एस. कोठारी पोस्टडॉक्टोरल फेलोशिप योजना फेलोशिप की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन  अप्लाई करें।
9 महिला उम्मीदवारों के लिए पोस्ट-डॉक्टोरल  फेलोशिप यूजीसी की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन अप्लाई करें।
10 एससी / एसटी उम्मीदवारों के लिए पोस्ट-डॉक्टोरल फेलोशिप यूजीसी की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन अप्लाई करें।
11 अनुसूचित जाति के छात्रों के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप यूजीसी की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन अप्लाई करें।
12 एसटी छात्रों की उच्च शिक्षा के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप यूजीसी की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन अप्लाई करें।
13 विकलांग व्यक्तियों के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप यूजीसी की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन अप्लाई करें।
14 अल्पसंख्यक छात्रों के लिए मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय फेलोशिप यूजीसी की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन अप्लाई करें।
15 ओबीसी उम्मीदवार के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप यूजीसी की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन अप्लाई करें।

यह भी पढ़ें : नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टलसरकारी स्कॉलरशिप के लिए एक हब

यूजीसी स्कॉलरशिपपुरस्कार

छात्र को यूजीसी स्कॉलरशिप के द्वारा कितनी स्कॉलरशिप राशि दी जाती है? यह एक सामान्य प्रश्न है जो आपके दिमाग में हो सकता है। हालांकि यह राशि अलग अलग स्कॉलरशिप के लिए अलग अलग हो सकती है, छात्रों को केवल आर्थिक लाभ के रूप में पुरस्कार दिया जाता है। नीचे दी गई तालिका में आप जान सकते हैं कि प्रत्येक यूजीसी स्कॉलरशिप के पास आपके लिए क्या है। इसमें उन पुरस्कारों के बारे में विस्तृत जानकारी शामिल है जो छात्रों को इन स्कॉलरशिप और फेलोशिप के माध्यम से दिए जायेंगे।

यूजीसी स्कॉलरशिप के विस्तृत पुरस्कार

क्र.सं. स्कॉलरशिप का नाम पुरस्कार
1 सिंगल गर्ल चाइल्ड के लिए पोस्ट ग्रेजुएट इंदिरा गांधी स्कॉलरशिप योजना 2 वर्ष की अवधि के लिए रूपया 36,200 हर साल
2 यूनिवर्सिटी रैंक होल्डर के लिए पोस्ट ग्रेजुएट मेरिट स्कॉलरशिप 2 साल की अवधि के लिए रूपया 3,100 हर महीने
3 व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के लिए अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के लिए स्नातकोत्तर स्कॉलरशिप एमई / एमटेक छात्रों के लिए 2 साल की अवधि के लिए हर महीने 7,800 रुपये ।

अन्य व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के लिए रूपया 4,500 प्रति माह 2 साल की अवधि के लिए।

4 एनईआर के लिए विशेष स्कॉलरशिप योजना ईशान उदय सामान्य डिग्री पाठ्यक्रमों को करने वाले छात्रों को हर महीने 5,400 रुपये प्राप्त होंगे।

तकनीकी / व्यावसायिक / चिकित्सा पाठ्यक्रमों को करने वाले छात्रों को हर महीने 7,800 रुपये प्राप्त होंगे।

नोट: स्कॉलरशिप पुरस्कार एक वर्ष के लिए देय है जिसे हर साल आपके अच्छे आचरण और निर्धारित उपस्थिति को बनाये रखने के लिए डिग्री कोर्स के लिए रिन्यूअल किया जा सकता है।

5 सामाजिक विज्ञान में रिसर्च के लिए स्वामी विवेकानंद सिंगल गर्ल चाइल्ड स्कॉलरशिप शुरूआती 2 सालों के लिए रूपया 25,000 प्रति माह की फेलोशिप और बाकी के कार्यकाल के लिए रूपया 28,000 प्रति माह।

शुरूआती 2 सालों के लिए रूपया 10,000 प्रति वर्ष की एक आकस्मिक अनुदान और बाकी के कार्यकाल के लिए रूपया 20,500 प्रति वर्ष।

हर महीने रूपया 2,000 के एस्कॉर्ट और रीडर सहायता (विकलांग व्यक्तियों के लिए)।

6 एमेरिटस फेलोशिप 2 साल के लिए हर महीने 31,000 का मानदेय

हर साल रूपया 50,000 की आकस्मिक अनुदान

7 मानविकी और समाज विज्ञान में डॉ एस राधाकृष्णन पोस्ट-डॉक्टोरल फेलोशिप पहले साल के लिए रूपया 38,800 की फ़ेलोशिप, दूसरे साल के लिए रूपया 40,300 और तीसरे साल के लिए रुपया 41,900

3 वर्षों के लिए हर साल रूपया 50,000 की आकस्मिक अनुदान

(विकलांग व्यक्ति) उम्मीदवारों के लिए हर महीने रुपया 2,000 के एस्कॉर्ट्स और रीडर सहायता

8 डॉ. डी.एस. कोठारी पोस्टडॉक्टोरल फेलोशिप योजना पहले, दूसरे और तीसरे साल के लिए रूपया 43,400, रूपया 45,000 और रूपया 46,500 की सामान्य फेलोशिप

पहले, दूसरे और तीसरे साल के लिए रूपया 46,500 की उच्च फेलोशिप

रूपया 1 लाख प्रति वर्ष की आकस्मिक अनुदान

9 महिला उम्मीदवारों के लिए पोस्ट-डॉक्टोरल  फेलोशिप पहले 2 साल के लिए रूपया 38,800 प्रति माह की फेलोशिप और दो साल  बाद रूपया 46,500 प्रति माह।

5 सालों के लिए प्रति वर्ष रूपया 50,000 की आकस्मिक अनुदान

एस्कॉर्ट्स और रीडर भत्ता रूपया 2,000 प्रति माह (पीडब्ल्यूडी आवेदकों के लिए)।

10 एससी / एसटी उम्मीदवारों के लिए पोस्ट-डॉक्टोरल फेलोशिप पहले 2 साल के लिए रूपया 38,800 प्रति माह की फेलोशिप और दो साल बाद रूपया 46,500 प्रति माह

5 सालों के लिए प्रति वर्ष रूपया 50,000 की आकस्मिक अनुदान

एस्कॉर्ट्स और रीडर भत्ता रूपया 2,000 प्रति माह (पीडब्ल्यूडी आवेदकों के लिए)।
11 अनुसूचित जाति के छात्रों के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप सामाजिक विज्ञान, मानविकी और विज्ञान में फेलोशिप में शुरूआती दो सालों के लिए रूपया 25,000 प्रति माह और बाकी के कार्यकाल के लिए रूपया 28,000 प्रति माह जिसमे जेआरएफ शामिल है।

मानविकी और सामाजिक विज्ञान के लिए आकस्मिक अनुदान रूपया 10,000 प्रति वर्ष  शुरूआती 2 वर्षों के लिए और बाकी के कार्यकाल के लिए रूपया 20,500 प्रति वर्ष है।

विज्ञान, इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी के लिए आकस्मिक रूपया 12,000 प्रति वर्ष शुरूआती 2 वर्षों के लिए और बाकी के कार्यकाल के लिए रूपया 25,000 प्रति वर्ष है।

प्रति माह रूपया 2,000 के एस्कॉर्ट्स और रीडर सहायता (अंधे और शारीरिक रूप से विकलांग छात्रों के लिए)।

12 एसटी छात्रों की उच्च शिक्षा के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप सामाजिक विज्ञान, मानविकी और विज्ञान में फेलोशिप में शुरूआती दो सालों के लिए रूपया 25,000 प्रति माह और शेष कार्यकाल के लिए रूपया 28,000 प्रति माह जिसमे जेआरएफ शामिल है।

मानविकी और सामाजिक विज्ञान के लिए आकस्मिक अनुदान रूपया 10,000 प्रति वर्ष  शुरूआती 2 वर्षों के लिए और बाकी के कार्यकाल के लिए रूपया 20,500 प्रति वर्ष है।

विज्ञान, इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी के लिए आकस्मिक अनुदान रूपया 12,000 प्रति वर्ष शुरूआती 2 वर्षों के लिए और बाकी के कार्यकाल के लिए रूपया 25,000 प्रति वर्ष है।

हर महीने रूपया 2,000 के एस्कॉर्ट्स और रीडर सहायता (अंधे और  शारीरिक रूप से विकलांग छात्रों के लिए)।

13 विकलांग व्यक्तियों के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप फेलोशिप राशि में शामिल हैं –

शुरूआती 2 वर्षों के लिए रूपया 16,000 का मासिक वजीफा और शेष कार्यकाल के लिए रूपया 18,000 प्रति माह।

मानविकी, वाणिज्य और सामाजिक विज्ञान के लिए आकस्मिक भत्ता शुरूआती 2 सालों के लिए 10,000 हर साल और बाकी के कार्यकाल के लिए रूपया 20,500 है।

विज्ञान और इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी के लिए आकस्मिक भत्ता  रूपया 12,000 है और बाकि के कार्यकाल के लिए रूपया 25,000 है।

हर साल रूपया 3,000 की विभागीय सहायता

संस्थान / विश्वविद्यालय के नियमों के अनुसार एचआरए

हर महीने रूपया 2,000 के एस्कॉर्ट्स / रीडर सहायता (अंधे और शारीरिक रूप से अक्षम उम्मीदवारों के लिए)
14 अल्पसंख्यक छात्रों के लिए मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय फेलोशिप शुरूआती दो सालों के लिए रूपया 25,000 प्रति माह (जेआरएफ) की फेलोशिप और बाकी के कार्यकाल के लिए रूपया 28,000 प्रति माह (एसआरएफ)।

मानविकी, सामाजिक विज्ञान और वाणिज्य के लिए आकस्मिक शुरूआती 2 सालों के लिए 10,000 प्रति वर्ष और बाकी के कार्यकाल के लिए रूपया 20,500 प्रति वर्ष है।

विज्ञान के लिए आकस्मिक शुरूआती 2 सालों के लिए 12,000 प्रति वर्ष और बाकी के कार्यकाल के लिए रूपया 25,000 प्रति वर्ष है।

हर महीने रूपया 2,000 के एस्कॉर्ट्स और रीडर सहायता (अंधे और शारीरिक रूप से विकलांग छात्रों के लिए)।
15 ओबीसी उम्मीदवार के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप सामाजिक विज्ञान, मानविकी और विज्ञान में फेलोशिप शुरूआती दो सालों के लिए रूपया 25,000 प्रति माह जिसमें एसआरएफ शामिल है और बाकी के कार्यकाल के लिए रूपया 28,000 प्रति माह है।
मानविकी और सामाजिक विज्ञान के लिए आकस्मिक अनुदान शुरूआती 2 सालों के लिए 10,000 प्रति वर्ष और बाकी के कार्यकाल के लिए रूपया 20,500 प्रति वर्ष है।

विज्ञान, इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी के लिए आकस्मिक अनुदान शुरूआती 2 सालों के लिए 12,000 प्रति वर्ष और बाकी के कार्यकाल के लिए रूपया 25,000 प्रति वर्ष है।

हर महीने रूपया  2,000 के एस्कॉर्ट्स और रीडर सहायता (अंधे और शारीरिक रूप से विकलांग छात्रों के लिए)।

यूजीसी स्कॉलरशिप – रिजल्ट

यूजीसी स्कॉलरशिप और फेलोशिप के लिए एप्लीकेशन प्रक्रिया समाप्त हो जाने के बाद, छात्र रिजल्ट जानने के लिए उत्सुक हो जाते हैं। यूजीसी स्कॉलर्स और फेलोज को शॉर्टलिस्ट करने के लिए एक कठिन जांच प्रक्रिया का पालन करता है। जबकि स्कॉलरशिप उन अभ्यर्थियों को दी जाती है जो बताये गए योग्यता शर्तों को पूरा करते हैं और सत्यापन के दौरान वास्तविक पाए जाते हैं, फ़ेलोशिप उन छात्रों को दी जाती है, जिन्हें साक्षात्कार के बाद यूजीसी द्वारा नियुक्त विशेषज्ञ समिति की सिफारिश मिलती है। सभी रिजल्ट यूजीसी की आधिकारिक वेबसाइट पर घोषित किए जाते हैं। इस प्रकार  छात्रों को स्कॉलरशिप और फेलोशिप से संबंधित हर महत्वपूर्ण अपडेट के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाने को कहा जाता है।

यूजीसी स्कॉलरशिपवितरण

छात्रों को स्कॉलरशिप की राशि कैसे दी जाती है? छात्र यूजीसी स्कॉलरशिप को कैसे पा सकते हैं? क्या स्कॉलरशिप की राशि हाथ में या किसी अन्य माध्यम से दी जाती है? आपके सभी सवालों के जवाब डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) है। हां, यूजीसी स्कॉलरशिप की राशि को सीधे लाभार्थियों के बैंक खातों में वितरित करता है। इस प्रकार  आवेदकों को स्कॉलरशिप या फेलोशिप के लिए अप्लाई करने के समय किसी राष्ट्रीयकृत बैंक में उनका बैंक खाता होना अनिवार्य है।

यूजीसी स्कॉलरशिपरिन्यूअल

प्रत्येक स्कॉलरशिप की अवधि आपके कर रहे पाठ्यक्रम की अवधि के हिसाब से अलग अलग होती है। यूजीसी स्कॉलरशिप की निरंतरता के लिए हर साल यूजीसी एक निर्दिष्ट निगरानी प्रक्रिया का पालन करता है। विभाग के प्रमुख (एचओडी) को जिसके अंडर में उम्मीदवार अध्ययन कर रहा है, उसके प्रदर्शन की निगरानी के लिए जिम्मेदार माना जाता है। स्कॉलरशिप को रिन्यूअल करने के लिए छात्र को अपने संबंधित बैंक की शाखा में अपनी वार्षिक प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत करनी होती है, जिस पर विश्वविद्यालय के एचओडी और रजिस्ट्रार या कॉलेज के प्राचार्य या संस्थान के प्रमुख द्वारा हस्ताक्षर किया गया होता है। यदि छात्र अपने अध्ययन के दौरान संतोषजनक प्रगति को बनाए रखने में विफल रहता / रहती  है  तो स्कॉलरशिप समाप्त या रद्द कर दी जाती है।

यह भी पढ़ें : कॉलेज के छात्रों के लिए 12 वीं के बाद की स्कॉलरशिप

(Visited 9,248 times, 1 visits today)

You may also like

Leave a Comment